यजुर्वेद भाग-4


समान रथ वाले, सुन्दर स्वर्णिम वर्ण वाले, समस्त लोको को देखने (पालने ) वाले आप दोनों (अग्नि तथा वायु ) सभी लोगो को निजकर्म में संलग्न करते है। 
सभी दिशाओ को प्रकाशित करने वाले आप दोनों दिव्य होताओ को हमसे प्रसन्न किया।
 देवी भारती आदित्यो के साथ हमारे यज्ञ की रक्षा करे,  वस्तुओ और रुद्रों के साथ  देवी इड़ा तथा सरस्वती हमारे यज्ञ की रक्षा करे ,
हम उनका आवाहन करते है।  हे देवियो ! आप हमारे यज्ञ को देवो में स्थापित करे।  

Write Your Comments Here:





27 in 0.018682956695557