घरेलू चिकित्सा

हमारे देश की साधारण जनता आशिक्षित तथा गरीब है ।। शहरों से बहुत दूरी पर फैले हुए ग्रामीण क्षेत्रों की जनता के लिए चिकित्सा का प्रश्न बड़ा ही टेड़ा प्रश्न है ।। स्वास्थ्य विज्ञानमें उनकी निज की जानकारी प्राय: नहीं, के बराबर होती है ।। वहाँ जो चिकित्सक पाए जाते हैं, उनका चिकित्सा क्रम भी बड़ा दोषपूर्ण होता है, ऐसी दश में ऐसे अनेक रोगी जो साधारण चिकित्सा से ही अच्छे हो सकते हैं- साधन न मिलने के कारण अपनी जीवन लीला समाप्त कर देते हैं ।। ऐसे लोगों की कठिनाइयों को ध्यान में रखते हुए ही यह पुस्तक लिखी गई है, इसमें गिने -चुन प्रसिद्ध रोगों पर कुछ सरलता से उपलब्ध हो सकने वाली सीधी सादी औषधियाँ लिखीं हैं, जो कम मूल्य की, बनाने मैं सुगम और हानि रहित हैं विष, रस,भस्म तथा ऐसी चीजें, जिनके सेवन मैं कुछ असावधानी हो जाए तो खतरा उत्पन्न हो जाए , इस पुस्तक मैं नहीं लिखी गई है ।। इस पुस्तक की सहायता से साधारण पड़े लिखे लोगों को और अल्पशिक्षित स्त्रियों को तो अपने निकटस्थ लोगों की बीमारियाँ दूर करने में बहुत हद तक सफलता प्राप्त हो सकती है ।। रोगी, के लक्षण, पथ्य, मात्रा, सेवन विधि आदि

Write Your Comments Here: